1 min read

कोरिया : मुर्गीपालन कर अपनी आजीविका की बनाई राह

कोरिया : कोरिया जिले में विकासखण्ड भरतपुर अन्तर्गत आदर्श गौठान ग्राम देवगढ़ की निवासी श्रीमती मालती बैगा को पशुधन विकास विभाग के द्वारा बैकयार्ड योजना में मुर्गी पालन से जोड़कर इस विभागीय योजनान्तर्गत 28 दिवसीय 45 नग रंगीन मुर्गी चुजे एवं कुक्कुट आहार प्रदाय किया गया है। इससे मालती को आजीविका का साधन मिला है। वे बताती हैं कि इस योजना से जुड़कर उन्हें प्रति माह 5 हजार रुपये तक की आमदनी हो जाती है।

पशुधन विकास विभाग द्वारा विकासखण्ड स्तर पर मदद करते हुए श्रीमती मालती को जून माह में चूजे प्रदाय किये गए। इसके साथ उन्हें चूजों के रखरखाव हेतु उचित मार्गदर्शन दिया गया एवं विभाग द्वारा समय-समय पर टीकाकरण एवं औषधि भी प्रदान किया गया। श्रीमती मालती बैगा ने विभाग द्वारा दी गई जानकारी का अनुसरण कर मुर्गी पालन किया जिससे उनकी मुर्गियों में मृत्यु दर बेहद कम रही, विगत दो माह से इनकी मुर्गियों ने अण्डा देना प्रारंभ कर दिया।

संबंधित विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार औसतन प्रथम माह में अण्डा उत्पादन प्रति मुर्गी 8-10 हो रहा है जो द्वितीय माह में बढकर 12-14 हो गया वे मुर्गियों के अण्डे को 10 रूपये नग बेचकर लगभग 3000 से 4000 प्रतिमाह केवल अण्डे से प्राप्त कर रही है। साथ ही उनमें से आधे मुर्गो को जो 2 किलोग्राम से 2.50 किलोग्राम के बीच है, जिन्हें बेचकर 800 से 1000 रूपये प्रतिमाह प्राप्त रकर ही है यानि  मालती बैगा 5000 रूपये प्रतिमाह इस योजना से लाभांवित हो रही है और पशुधन विकास विभाग विकासखण्ड भरतपुर का आभार व्यक्त करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *