1 min read

इजरायल की दो तरफा लड़ाई, गाजा से संघर्ष के बीच लेबनान में हिजबुल्लाह के ठिकानों पर किए हमले: 10 पॉइंट्स

इजरायली सेना की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, इजरायल (Israel Gaza War) ने रातभर लेबनान में हिजबुल्लाह के ठिकानों पर हवाई हमले किए. बयान में कहा गया है कि इजरायली सेना लेबनानी क्षेत्र में आतंकी संगठन हिजबुल्लाह के सैन्य ठिकानों पर हमला कर रही है.
हमास के सहयोगी और ईरान सपोर्टर लेबनानी संगठन हिजबुल्लाह और इजरायल के बीच तनाव बढ़ने की आशंका बढ़ रही है. झड़पों के बाद इजरायली अधिकारियों ने इजरायल-लेबनान सीमा के पार करीब 28 जगहों से हजारों लोगों को निकालना शुरू कर दिया.
US विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन 7 अक्टूबर के हमास हमलों के बाद इजरायली लोगों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए बुधवार को इजरायल जाएंगे.ब्लिंकन ने एक्स पर लिखा, “बुधवार को, @POTUS इज़राइल का दौरा करेंगे. उनका यहां आना इज़रायल, क्षेत्र और दुनिया के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण हैं”

ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका को इजरायल से गरीब गाजा पट्टी में विदेशी मदद पहुंचाने में सहयोग करने का भी आश्वासन मिला है, क्योंकि इजरायली सेना हमास के कब्जे वाले क्षेत्र में जमीनी हमले की तैयारी कर रही है.
हमास के प्रवक्ता अबू ओबेदेह ने सोमवार को कहा कि गाजा पर इजरायली जमीनी हमले के खतरे से हमें कोई डर नहीं है, हम इसके लिए तैयार हैं.
टीवी पर प्रसारित एक बयान के मुताबिक, हमास के एज़ेदीन अल-क़सम ब्रिगेड ने 7 अक्टूबर को दक्षिणी इज़रायल पर बड़े हमले के बाद से 200 लोगों को बंधक बना रखा है, जबकि करीब 50 अन्य लोगों को दूसरी जगहों पर अन्य सशस्त्र समूहों द्वारा रखा गया है.
हमास की तरफ से इजरायल पर किए गए जमीन-समुद्र-हवाई हमले में 1,400 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. जवाबी कार्रवाई में इजरायली हवाई हमलों में गाजा में 2,750 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है.
फिलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंसी (UNRWA)ने सोमवार को चेतावनी दी कि इजरायली नाकाबंदी की वजह से गाजा में पानी की कमी हो गई है. जिसकी वजह से वहां के लोगों को दूषित स्रोतों से पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है, जिससे बीमारियां फैल सकती हैं.
इजरायली सेना ने जमीनी हमले की तैयारी के लिए गाजा के बाहरी इलाके में बख्तरबंद गाड़ियां जमा कर ली हैं. इज़रायली अधिकारियों ने कहा है कि गाजा पर कोई भी जमीनी हमला “राजनीतिक निर्णय” पर निर्भर करेगा. संभावित हमले की तैयारी में, इज़रायल ने, इज़राइल रक्षा बलों (आईडीएफ) और इज़राइली वायु सेना (आईएएफ) की संयुक्त ताकत के साथ, 400,000 से अधिक रिजर्व तैनात किए हैं.
इज़रायल ने गाजा में हमास कमांडर याह्या सिनवार को 7 अक्टूबर के हमलों के लिए जिम्मेदार बताया. इज़रायली सैन्य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट रिचर्ड हेचट ने सिनवार को “चलता हुआ मरा हुआ आदमी” करार दिया.
अरब लीग और अफ़्रीकी संघ ने ज़मीनी हमले के गंभीर परिणामों के बारे में कड़ी चेतावनी जारी की है, उन्होंने यहां तक कहा है कि संभावित आक्रमण की वजह से बड़े स्तर पर नरसंहार” होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *