1 min read

हम दो और बंधकों को रिहा करने को तैयार, इजरायल ने वापस लेने से किया इनकार”: हमास का दावा

नई दिल्ली: इजरायल और गाजा के बीच चल रहा युद्ध (Israel Gaza War) थमने का नाम नहीं ले रहा है. दोनों देशों के बीच जारी संघर्ष के बीच हमास ने मिस्र और कतर की मध्यस्थता के बाद अमेरिका के दो बंधकों को शुक्रवार को रिहा कर दिया. वहीं हमास ने दावा किया कि वह मानवीय आधार पर दो और बंधकों को रिहा करना चाहता था लेकिन इजरायल ने बंधकों को वापस लेने से इनकार कर दिया. अब इजरायल ने हमास के इस दावे को सिर्फ प्रचार मात्र बताया है.

अन्य बंधकों को छोड़ने का था विचार’
हमास के आर्म्ड विंग के प्रवक्ता अबू उबैदा ने कहा कि उसने शुक्रवार को, जिस दिन अमेरिका के दो बंधकों जूडिथ ताई राणान और उनकी बेटी नताली को रिहा किया था, उसी दिन दो अन्य लोगों को रिहा करने के इरादे के बारे में कतर को सूचित किया था. अबू उबैदा ने कहा कि हमास जूडिथ और नताली की रिहाई वाली प्रक्रियाओं का उपयोग करके” रविवार को दोअन्य लोगों को रिहा करने के लिए तैयार था. लेकिन इजरायल ने दोनों बंधकों को वापस लेने से इनकार कर दिया.

‘बंधकों को वापस लेने को तैयार नहीं इजरायल’
फ़िलिस्तीनी गुट ने 7 अक्टूबर को दक्षिणी इज़रायल में अपने घातक हमले के दौरान लगभग 210 लोगों को बंधक बना लिया था. कतर ने दो अमेरिकी बंधकों की शुक्रवार को रिहाई के लिए मध्यस्थता करने में मदद की थी. हमास के नए दावे पर कतर की तरफ से कोई टिप्पणी नहीं की गई है. वहीं एक संक्षिप्त बयान में, इजरायली प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय ने कहा, “हम हमास द्वारा झूठे प्रचार की बात नहीं करेंगे.” “हम सभी बंधक और लापता लोगों को घर वापस लाने के लिए हर तरह से कार्रवाई करना जारी रखेंगे.”
हमास ने दिए बंधकों की रिहाई के संकेत
बता दें कि दो अमेरिकी बंधकों की रिहाई के बाद हमास ने संकेत दिया था कि और बंधकों को रिहा करने को लेकर उसकी कतर के साथ बातचीत चल रही है. गाजा के इस्लामिक शासकों ने कहा था कि अगर सुरक्षा हालात अनुमति देते हैं तो बंधक नागरिक फ़ाइल को बंद करने के आंदोलन के फैसले को लागू करने के लिए सभी मध्यस्थों के साथ वह काम कर रहे हैं. साथ ही उसने और नागरिकों की रिहाई का संकेत दिया था. हमास ने कहा कि कतर और मिस्र की कोशिशों के बाद अमेरिकी जूडिथ ताई रानन और उनकी बेटी नताली शोशना रानन को छोड़ दिया गया है.अब अन्य लोगों को छोड़ने पर विचार किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *