1 min read

82 वर्ष के बुजुर्ग व दिव्यांग फुलकुंवर ने घर में किया मतदान

कोंड़ागांव। भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, जहां हर व्यस्क को अपने मत से सरकार बनाने का अधिकार प्राप्त है। इस अधिकार के उपयोग के लिए युवा उत्साहित रहते हैं, ऐसे ही अपने मतों के अधिकार के उपयोग के लिए लालायित सिदावंड की फुलकुंवर नेताम को 35 वर्ष की उम्र में पहली बार वोट देने का अवसर मिला। दरअसल फुलकुंवर नेताम बचपन से ही अज्ञात बीमारी के कारण चलने-फिरने में पूरी तरह असमर्थ हो गई थी। चुनावों के दौरान लगने वाली लंबी लाईनों से बचाने के लिए परिजन भी फुलकुंवर भी मतदान केंद्र ले जाने में परहेज करते थे। फुलकुंवर के वोट देने की इच्छा इस विधानसभा चुनाव 2023 में जाकर पूरी हुई, जब भारत निर्वाचन आयोग ने ऐसे दिव्यांगों और बुजुर्गों के लिए घर में ही मतदान करवाने की व्यवस्था की, इसके लिए घर में ही मत देने के इच्छुक मतदाताओं से आवेदन लिए गए थे।

कोंडागांव जिले के सिदावंड गांव में मतदान दल के पहुंचने की जानकारी पहले ही दे दी गई थी। मतदान दल निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मतदान दल पहुंचा और घर में ही मतदान की सुविधा प्रदान की। मतदान कर फुलकुंवर बहुत खुश थी। बड़ेकनेरा की रहने वाली पीते पोयाम वर्षों से अपने बिस्तर से उठ पाने और बोलने में असमर्थ रहीं हैं। घर पर अकेली रहने वाली 82 वर्षीया पीते की सेवा उनकी व्याहता बेटी और दामाद किया करते है। मतदान केंद्र तक जाने की असक्षमता के कारण वह मतदान नहीं कर पाती थी, इस बार मतदान अधिकारी जब घर पहुंचे तो उन्हें विश्वास ही नहीं हुआ कि मतदान केंद्र खुद उनके पास चलकर आया है। पीते बहुत खुश थीं उन्होंने दामाद की सहायता से मतदान की प्रक्रिया पूरी की।

गौरतलब है कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में मतदान केंद्रों तक पहुंच पाने में असमर्थ दिव्यांगों और 80 साल से ज्यादा उम्र के मतदाताओं के लिए डाकमत पत्र की व्यवस्था की गई है। जिसके लिए दोनों विधानसभाओं मोबाइल मतदान दलों का गठन कर घर-घर जाकर मतदान कराया जा रहा है। इसके अंतर्गत कोंडागांव विधानसभा में 5, नारायणपुर विधानसभा (आंशिक) में 1 एवं केशकाल विधानसभा में 6 दलों को नियुक्त किया गया है। जिसमें घर घर किये गए विशेष संक्षिप्त सर्वेक्षण में बीएलओ द्वारा चिन्हित कुल 178 मतदाताओं को डाक मतपत्र की सुविधा प्रदान की जा रही है। जिसमें कोंडागांव विधानसभा-83 में 82, नारायणपुर विधानसभा-84 (आंशिक) में 02 और केशकाल विधानसभा-82 के 94 मतदाता शामिल हैं जिसमें 36 दिव्यांग और 140 मतदाता 80 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *