1 min read

US में प्रदर्शनकारियों ने धावा बोल रोकी इजरायल को गोला-बारूद की सप्लाई

नई दिल्ली. ज्यों-ज्यों गाजा पर इजरायल के हमले तेज होते जा रहे हैं और हमास के खिलाफ इजरायली सेना का युद्ध लंबा खिंचता जा रहा है, वैसे-वैसे इसका विरोध भी तेज होता जा रहा है। अमेरिका के कई शहरों में गाजा पर हो रहे हमले के खिलाफ विरोध हो रहा है और वहां तुरंत सीजफायर की मांग हो रही है। फिलिस्तीन के समर्थक ये प्रदर्शनकारी अमेरिकी सरकार से ठोस उपाय करने और इजरायल को हथियार सप्लाई नहीं करने की मांग कर रहे हैं। इसी बीच सैकड़ों फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार को वाशिंगटन के टैकोमा बंदरगाह पर विरोध-प्रदर्शन किया और इजरायल को गोला-बारूद और बम की सप्लाई करने जा रहे अमेरिकी जहाज का रास्ता रोकने की कोशिश की।

अल जजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, काले आसमान और लगातार बारिश के बीच सैकड़ों फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारियों ने वाशिंगटन के टैकोमा बंदरगाह पर एक सैन्य आपूर्ति जहाज को रोकने के लिए बड़ी रैली की। उनका मानना ​​​​था कि ये जहाज संयुक्त राज्य अमेरिका से इजरायल हथियार ले जाएगा, जिसका इस्तेमाल गाजा पट्टी के खिलाफ चल रहे इजरायली अभियान में किया जाएगा, जहां 10,000 से अधिक फिलिस्तीनी मारे जा चुके हैं।

टैकोमा में अमेरिकी सैन्य जहाज को रोकने की कोशिश में प्रदर्शन कर रहे वसीम हेज ने कहा, “हम अब युद्धविराम चाहते हैं। हम चाहते हैं कि अब लोगों की हत्या बंद हो। हम अमेरिकी विदेश नीति और इजरायल को अमेरिकी फंडिंग पर वास्तविक जांच और कार्रवाई चाहते हैं। हेज विरोध-प्रदर्शन आयोजित करने वाले समूह अरब रिसोर्स एंड ऑर्गेनाइजिंग सेंटर (AROC) के साथ बतौर केस मैनेजर और कम्युनिटी आउटरीच कॉर्डिनेटर के रूप में काम करते हैं। उन्होंने कहा कि एक गोपनीय सूत्र ने AROC को बताया था कि अमेरिकी सैन्य जहाज पर गोला-बारूद,हथियार और सैन्य उपकरण लोड किए जा रहे हैं, जो इजरायल भेजा जाएगा। इसी सूचना पर उनके साथियों ने टैकोमा बंदरगाह पर अमेरिकी सैन्य जहाज को रोकने की कोशिश की।

पेंटागन ने इस बारे में कोई जानकारी साझा करने से इनकार कर दिया है लेकिन अमेरिकी तट रक्षक ने एक बयान में कहा कि केप ऑरलैंडो नामक जहाज पर “कथित तौर पर अतिक्रमण” करने के बाद अंततः वहां से तीन प्रदर्शनकारियों को हटाया गया और उन्हें हिरासत में ले लिया गया। वे लोग फिलहाल संघीय कानून के संभावित उल्लंघन के आरोप में जांच के दायरे में हैं।

यह लगातार दूसरा सप्ताह है, जब केप ऑरलैंडो को अपनी यात्रा को बाधित करने के प्रयासों का सामना करना पड़ा है। पिछले शुक्रवार को, जब केप ऑरलैंडो कैलिफोर्निया के ओकलैंड में रुका हुआ था, तो तीन प्रदर्शनकारियों को जहाज की सीढ़ी पर पकड़ लिया गया था, जिससे जहाज के प्रस्थान में घंटों की देरी हुई थी।

मिडिल-ईस्ट आई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक अन्य घटनाक्रम में 75 से अधिक युवा प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को मिसौरी में भी इसी तरह का विरोध-प्रदर्शन किया और इजरायल को हथियारों की सप्लाई बाधित करने की कोशिश की। फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनकारियों ने मिसौरी के बोइंग में बिल्डिंग 598 के हर प्रवेश बिंदु को बाधित कर दिया, जहां गाजा में इजरायल द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले बम और गोला-बारूद का उत्पादन होता है। यह प्रोडक्शन प्लांट इजरायल को लगभग 1,000 बमों की आपूर्ति कर रहा है, , जिसमें छोटे डायमीटर वाले बम और ज्वाइंट अटैक युद्ध सामग्री शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *