सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद के लिए जागरूकता लाने रायपुर पुलिस की पहल
1 min read

सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद के लिए जागरूकता लाने रायपुर पुलिस की पहल

रायपुर। सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद के लिए लोगों में जनजागरूकता लाने के लिए रायपुर पुलिस ने नई पहल शुरू की गई है। इस पहल के अंतर्गत सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद करने वाले व्यक्तियों को गुड सेमेरिटंस अर्थात नेक व्यक्ति के रूप में प्रोत्साहित व पुरस्कृत जाएगा। पहल के अंतर्गत एसएसपी संतोष सिंह ने सड़क दुर्घटना में घायलों को त्वरित सहायता पहुंचा कर जान बचाने वाले छह गुड सेमेरिटंस को कंट्रोल रूम में सम्मानित किया गया। दशरथ साहू, खिलेश्वर महंत, कार्तिक कुमार, रविकुमार साहू, गोविंदा साहनी और पार्थ वैष्णव को एसएसपी ने सम्मानित किया। इस दौरान एएसपी यातायात अनुराग झा और डीएसपी यातायात गुरजीत सिंह उपस्थित थे। बगदेहीपारा गांव निवासी दशरथ साहू ने 12 दिसबंर 2023 को बस स्टैंड नवापारा और 22 फरवरी 2024 को ग्राम पिपरौद चौक के पास हुए सड़क दुर्घटना में तत्काल 108 एंबुलेंस बुलाकर घायलों को हास्पिटल पहुंचा कर उनकी जान बचाने में अहम भूमिका निभाई। ग्राम भैसा ने खिलेश्वर महंत ने नौ दिसंबर 2023 को कनकी के पास हुए दुर्घटना में घायलों को एंबुलेंस बुलाकर खरोरा हास्पिटल पहुचा जागरूकता का परिचय दिया। सेजबहार निवासी कार्तिक कुमार निर्मलकर ने अनियंत्रित होकर नाले में गिरी कार में व उसमें गंभीर रूप से घायल चालक को तत्काल क्रेन वाहन उपलब्ध कर बाहर निकाला। सेजबहार निवासी रविकुमार साहू, माना कैंप निवासी गोविंदा साहनी और अभनपुर निवासी पार्थ वैष्णव ने भी इसी तरह सड़क दुर्घटना में लोगों को अस्पताल तक पहुंचाया। प्रति वर्ष सड़क दुर्घटना से लाखों लोगों की मृत्यु हो जाती है। सड़क दुर्घटना के दौरान प्रथम तीस मिनट का समय गोल्डन आवर कहलाता है। इस दौरान यदि घायल व्यक्ति को किसी भी प्रकार से चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध करा दिया जाता है तो घायल की जान बचाई जा सकती है। अत: गुड सेमेरिटंस बनकर प्राण बचाने वाले व्यक्तियों को सम्मानित किया जाएगा। साथ ही होर्डिंग लगाकर दूसरे को भी प्रेरित किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *