लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में मतदान 60.48 प्रतिशत
1 min read

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में मतदान 60.48 प्रतिशत

नयी दिल्ली । लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में विभिन्न क्षेत्रों में भीषण गर्मी और लू के बीच सोमवारको आठ राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों की 49 सीटों पर औसतन 60.48 प्रतिशत मतदान हुआ है। चुनाव आयोग के अनुसार सोमवार की सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान चला। छिटपुट घटनाओं और कहीं इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की खराबी के अलावा कुल मिलाकर मतदान शांतिपूर्ण रहा। पांचवें चरण में ओडिशा विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 35 सीटों पर भी मतदान कराया गया, जिसमें इन सीटों के 69.34 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया है। आयोग की ओर से कल देर रात बजे जारी आंकड़ों के अनुसार पांचवें चरण में पश्चिम बंगाल की सात सीटों पर सर्वाधिक 76.05 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि सबसे धीमा मतदान महाराष्ट्र में हुआ, जहां 54.33 प्रतिशत मत पड़े। आयोग के अनुसार, मतदान कुल मिलाकर शांति पूर्ण रहा। इस चरण में बिहार की कुल 40 सीटों में कुल पांच सीटों के लिये मतदान में 54.33 प्रतिशत वोट डाले गये। झारखंड में 14 में से तीन सीटों पर कराये गये मतदान में 63.09 प्रतिशत मतदान हुआ। महाराष्ट्र की कुल 48 में से 13 सीटों पर 54.33 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया। ओडिशा में पांचवें चरण में लोकसभा की 21 में से पांच सीटों पर मतदान कराया, जहां 69.34 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। वहीं इस चरण में उत्तर प्रदेश की 80 में से जिन 14 सीटों पर 57.79 प्रतिशत मत पड़े। जम्मू-कश्मीर की पांच सीटों में से बारामुला सीट पर मतदान कराया गया, जहां केन्द्र शासित प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी के अनुसार 1984 के बाद सर्वाधिक 58.17 प्रतिशत मत पड़े। केन्द्रशासित प्रदेश लद्दाख की एक मात्र सीट पर 69.62 प्रतिशत दर्ज किया गया। इस तरह इन 49 सीटों पर 695 प्रत्याशियों का भाग्य इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में दर्ज हो गया है। पांचवें चरण में लोकसभा चुनाव लड़ रहे, जिन प्रमुख प्रत्याशियों का चुनावी भाग्य तय होगा, उनमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (रायबरेली), केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (अमेठी), पीयूष गोयल (मुंबई उत्तर), जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला( बारामूला), लोक जनशक्ति पार्टी के चिराग पासवान (हाजीपुर) और भारतीय जनता पार्टी के जुएल ओरांव (सुंदरगढ़) भी शामिल हैं। इसके अलावा इस चरण में केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति, कौशल किशोर , डॉ प्रवीण भारती, शान्तनु ठाकुर, कपिल पाटिल, अन्नपूर्णा देवी, राजीव प्रताप रूड़ी और राष्ट्रीय जनता दल की रोहिणी आचार्य के भाग्य का ईवीएम में दर्ज हो गया। इस चरण में उत्तर प्रदेश की जिन 14 सीटों पर मतदान हुआ, उनमें मोहनलाल गंज (सुरक्षित), लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, जालौन (सु.), झाँसी, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी (सु.), बाराबंकी (सु.), फैजाबाद, कैसरगंज और गोण्डा शामिल हैं। इसमें से 10 सीटें सामान्य श्रेणी की हैं और चार सीटें सुरक्षित हैं। महाराष्ट्र की 13 सीटों धुले, डिंडोरी, नासिक, पालघर, भिवंडी, कल्याण, थाने, मुंबई उत्तर, मुंबई उत्तर-पश्चिम, मुंबई उत्तर-पूर्व, मुंबई उत्तर – मध्य, मुंबई दक्षिण-मध्य और मुंबई दक्षिण संसदीय सीटों पर मतदान हाेगा। बिहार में जिन पांच सीटों पर चुनाव हुआ, इनमें मधुबनी, सीतामढ़ी, सारण, मुजफ्फरपुर और हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र हैं। इसके अलावा ओडिशा में बरगढ़, सुंदरगढ़, बोलांगीर, कंधमाल और अस्का, झारखंड में तीन सीटों चतरा, कोडरमा और हजारीबाग, पश्चिम बंगाल में सात सीटों बनगांव, बैरकपुर, हावड़ा, उलूबेरिया, श्रीरामपुर, हुगली और आरामबाग है। केन्द्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की एक-एक मात्र संसदीय सीट के लिये मतदान हुआ। वर्ष 2019 के चुनाव में इन 49 सीटों में से 32 पर भाजपा, सात पर शिवसेना (अविभाजित) और चार पर तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशियों को सफलता मिली थी।
पांचवें चरण में 49 सीटों पर कुल 8.95 करोड़ लोगों को मताधिकार प्राप्त था जिनमें 4.69 करोड़ पुरुष और 4.26 करोड़ महिला मतदाता है। इस चरण में बहुजन समाज पार्टी 46 सीटों पर, भाजपा 40, कांग्रेस 18,समाजवादी पार्टी 10, शिवसेना (उद्धव ठाकरे) सात, तृणमूल कांग्रेस सात, शिवसेना छह, बीजू जनता दल पांच, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी पांच, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी चार, राष्ट्रीय जनता दल चार तथा आल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने चार सीटों पर उम्मीदवार खड़े किये थे। ओडिशा विधानसभा के दूसरे चरण की 35 सीटों में बीजू जनता दल और भाजपा 35-35, कांग्रेस 33 और आम आदमी पार्टी 10 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। दूसरे चरण में इन सीटों पर 41 महिलाओं सहित 265 उम्मीदवार मैदान में थे, जिनका 79.70 लाख मतदाताओं के हाथ में था। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक इस चुनाव में कांताबांजी और हिंजली सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। चौथे चरण के मतदान के साथ कुल 543 सीटों में से 379 सीटों पर मतदान की प्रक्रिया खत्म हो चुकी है। पहले चरण में 102, दूसरे में 88, तीसरे में 93 और चौथे में 96 संसदीय क्षेत्रों में चुनाव कराये गये हैं। पहले चार चरणों में 45.1 करोड़ से अधिक मतदाताओं ने मतदान किया है और इन चरणों में औसतन 66.95 प्रतिशत मतदान हुआ है। छठे और सातवें चरण में क्रमश: 25 मई और एक जून को मतदान कराये जायेंगे। मतगणना चार जून को होगी।विभिन्न राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में मतदान प्रतिशत इस प्रकार रहा…..
राज्य/ केंद्रशासित प्रदेश….मतदान प्रतिशत
बिहार ………………………..54.85
जम्मू-कश्मीर………………..58.17
झारखंड …………………….63.09
लद्दाख ………………………69.62
महाराष्ट्र………………………54.33
ओडिशा………………………69.34
उत्तर प्रदेश…………………..57.79
पश्चिम बंगाल……………….76.05
ओडिशा विधानसभा की कुल 147 सीटों में से राज्य में दूसरे चरण में 35 सीटों पर भी मतदान कराया गया। जहां राज्य के नौ जिलों में से सुबरनपुर जिले में सबसे अधिक 79.92 प्रतिशत और सुंदरगढ़ में 67.74 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके अलावा बरगढ में 75.97 प्रतिशत, बलांगीर में 68.46, बौध में 75.21, गंजम में 64.47, झारसुगुड़ा में 76.81, कंधमाल में 68.77 और नयागढ़ में 72.00 प्रतिशत मतदान हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *