दिल्ली, पुरी, बिहार जाने वाली समर स्पेशल ट्रेनों में कंफर्म बर्थ के लिए मारामारी, घंटो लेट चल रही ट्रेन
1 min read

दिल्ली, पुरी, बिहार जाने वाली समर स्पेशल ट्रेनों में कंफर्म बर्थ के लिए मारामारी, घंटो लेट चल रही ट्रेन

रायपुर। गर्मी के मौसम में एक्सप्रेस ट्रेनों में भारी भीड़ होने के कारण यात्रियों को कन्फर्म बर्थ पाने जद्दोजहद करनी पड़ रही है। एक-एक महीने पहले से अधिकांश ट्रेनों में वेटिंग के हालात है। रेलवे प्रशासन पीक सीजन में यात्रियों की दिक्कतों को ध्यान में रखकर कई समर स्पेशल ट्रेन चला रहा है। ये ट्रेनें दिल्ली, पुरी, मध्‍य प्रदेश और बिहार जा रही है। इससे काफी हद तक यात्रियों को कन्फर्म बर्थ मिलने का दावा रेलवे ने किया है। जिन समर स्पेशल ट्रेनों को चलाया जा रहा है, उनमें पुरी-निजामुद्दीन-पुरी समर स्पेशल, दुर्ग-पटना समर स्पेशल, दुर्ग-छपरा-दुर्ग समर स्पेशल, जबलपुर-दुर्ग समर स्पेशल और पुरी-उधना समर स्पेशल शामिल हैं। हालांकि अभी भी लंबी दूरी की सारनाथ, नवतनवा, छत्तीसगढ़, साउथ बिहार, राजधानी समेत अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों में कन्फर्म बर्थ पाने के लिए यात्रियों के बीच मारामारी मची हुई है। इंदौर से पुरी के बीच चलने वाली ट्रेन नंबर 20917/20918 इंदौर-पुरी-इंदौर हमसफर एक्सप्रेस में एक एसी 3 कोच और एक स्लीपर कोच की सुविधा अस्थायी रूप से यात्रियों को मिलने जा रही है। वहीं ट्रेन नंबर 20917 इंदौर-पुरी हमसफर एक्सप्रेस में 28 मई को और ट्रेन नंबर 20918 पुरी-इंदौर हमसफर एक्सप्रेस में 30 मई को अतिरिक्त कोच लगकर चलेगा। ट्रेनों की घंटो लेटलतीफी और वेटिंग सूची बढ़ने से हजारों यात्रियों का सफर दिक्कतों से भरा पूरा हो रहा है। रायपुर जंक्शन से होकर चलने वाली ट्रेनों में एक जैसी स्थिति बनी हुई है। ट्रेनें आने पर कोच में चढ़ने और बाहर निकलने में यात्रियों के बीच होड़ मच जाती है। ऐसे में यात्रियों को कंट्रोल करने और टिकट कंफर्म अधिक हो सके, इसके लिए अलग-अलग ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाकर रेलवे ट्रेनें चला रहा है। बावजूद इसके वेटिंग सूची लगातार बनी हुई है। रेलवे प्रशासन द्वारा यात्रियों को कन्फर्म बर्थ उपलब्ध कराने के लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से होकर चलने वाली ट्रेन नंबर 12262/12261 हावड़ा-सीएसएमटी-हावड़ा दुरंतो एक्सप्रेस और ट्रेन नंबर 12222/12221 हावड़ा-पुणे-हावड़ा दुरंतो एक्सप्रेस में एक-एक अतिरिक्त एसी-3 कोच की सुविधा उपलब्ध कराई है, ताकि एक से दो फेरे के लिए यात्रियों को सुविधा मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *