तीन ग्रामीणों की गिरफ्तारी के बाद नेताम बोले-स्वजन संतुष्ट नहीं तो कराएंगे उच्च स्तरीय जांच
1 min read

तीन ग्रामीणों की गिरफ्तारी के बाद नेताम बोले-स्वजन संतुष्ट नहीं तो कराएंगे उच्च स्तरीय जांच

अंबिकापुर। बजरंग दल के बलरामपुर जिला सहसंयोजक सुजीत स्वर्णकार और युवती की मौत बिजली करंट से हुई थी। जंगली सूअर के शिकार के लिए करंट प्रवाहित तार बिछाने वाले तीन ग्रामीणों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त सामग्री भी बरामद की गई है। इधर क्षेत्रीय विधायक व कृषि मंत्री रामविचार नेताम ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार पीड़ित परिवार के साथ है। यदि मृतक के स्वजन जांच से संतुष्ट नहीं होंगे तो सरकार उच्चस्तरीय जांच कराई जाएगी। बलरामपुर से लगे डूमरखी जंगल में बजरंग दल के जिला सहसंयोजक सुजीत स्वर्णकार तथा दहेजवार ग्राम की युवती की लाश पिछले दिनों संदिग्ध परिस्थिति में मिली थी। पहले दिन से ही लोग निर्मम हत्या का आरोप लगा रहे है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बिजली करंट से मौत की पुष्टि के बाद पुलिस ने जांच तेज की। पता चला कि जंगली सुअर के शिकार के लिए बिछाए गए करंट प्रवाहित तार के संपर्क में आने से दोनों की मौत हुई थी। घटना के बाद आरोपितों ने साक्ष्य छिपाने के लिए तार, खूंटी सहित अन्य सामान हटा दिया था।पुलिस ने बड़कीमहरी गांव के तीन ग्रामीणों पश्चिम राम,शिवचरण व शिलाे को हिरासत में लिया है। पुलिस की जांच से असंतुष्ट लोगों ने गुरुवार को एक बार फिर अंबिकापुर-रामानुजंगज राष्ट्रीय राजमार्ग पर बलरामपुर के चांदो चौक पर जाम लगा दिया था। बीच सड़क पर टायर जलाकर जोरदार प्रदर्शन किया गया था। ट्रेलर वाहन सड़क पर खड़ा कर एनएच पर आवगमन रोकने के साथ ही क्षेत्रीय विधायक व कृषि मंत्री रामविचार नेताम का पुतला फूंका था। नेताम के पुतला दहन से उनके समर्थक और भाजपा पदाधिकारी- कार्यकर्ताओं ने कड़ी नाराजगी जताई थी। नेताम समर्थकों का कहना था कि घटना के बाद से वे पीड़ित परिवार के संपर्क में थे। लगभग पांच घण्टे तक सड़क जाम के बाद पुलिस ने हस्तक्षेप किया। जनसामान्य को हो रही परेशानी को देखते हुए आंदोलनकारियों को हटाया गया। इस पूरे घटनाक्रम के बीच कृषि मंत्री रामविचार नेताम का बयान आया है। उन्होंने कहा है कि बलरामपुर में घटित घटना अकल्पनीय एवं दुखद है। झारखंड एवं दिल्ली प्रवास में रहने के बावजूद घटना के दिन से ही मैं सभी से लगातार संपर्क मे हूं। नेताम ने कहा कि इस घटना की पुलिस प्रशासन के द्वारा निरंतर जांच की जा रही है, दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसके बावजूद यदि मृतक के स्वजन अभी तक की जांच से संतुष्ट नहीं हैं तो किसी भी स्तर की उच्च स्तरीय जांच की जाएगी। इसके लिए मैंने मृतक सुजीत स्वर्णकार एवं किरण काशी के स्वजन से बात कर उन्हे आश्वस्त भी किया है। मृतक सुजीत स्वर्णकार मेरे लिये एक पारिवारिक सदस्य की तरह था। इनकी असमय रहस्यमय मृत्यु से मैं बहुत ही दुखित एवं व्यथित हूं। दुख के इस घडी मे इनके परिवार के प्रति मैं गहरी संवेदना प्रकट करते हुए किसी भी परिस्थिति मे परिवार। के साथ सदैव खडा हूं। मंत्री नेताम ने आमजनो से अपील की है कि घटना को लेकर किसी भी प्रकार के भ्रम एवं अफवाह में न आकर ठोस एवं उचित तथ्य को जांच एजेंसी के सामने लाएं। इसके साथ ही पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन रामानुजगंज विधायक व कृषि मंत्री रामविचार नेताम ने दिया है। मृतक सुजीत के स्वजन का एक वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित हो रहा है। सुजीत के स्वजन ने कहा है कि वे पुलिस की जांच से पूर्णतः असंतुष्ट है। घटना की जांच के लिए प्रकरण सीबीआइ को देने अथवा एसआइटी गठित करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *