1 min read

विंध्याचल नवरात्र मेला अब पूरे शबाब पर, 10 लाख से अधिक श्रद्धालु ने किए दर्शन

मिर्जापुर । मिर्जापुर जिले का विंध्याचल नवरात्र मेला अब पूरे शबाब पर पहुंच चुका है, पूरा मेला क्षेत्र मां के जयकारों से गूंज रहा है। अब तक 10 लाख से अधिक श्रद्धालु मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन कर चुके हैं। नौ दिन के नवरात्र मेले में दर्शनार्थियों की संख्या हर गुजरते दिन के साथ बढ़ती ही जा रही है। देश के विभिन्न इलाकों से आ रहे हैं।
काशी प्रयाग दो तीर्थक्षेत्र के मध्य स्थित विंध्याचल शक्तिपीठ का महात्म्य हिन्दू धार्मिक ग्रन्थों में मिलता है। देश के अन्य शक्ति पीठों में मां विंध्यवासिनी देवी की अलग मान्यता है। भक्त विश्व प्रसिद्ध त्रिकोण यंत्र की परिक्रमा कर मां विंध्यवासिनी, मां काली और सरस्वती देवी के दर्शन पूजन कर रहे हैं। इस यंत्र के पूर्व कोण पर ऐश्वर्य की देवी लक्ष्मी रुप मे विराजमान हैं, तब दक्षिण में शत्रु संघारिणी मां काली विराजमान हैं, पश्चिम में ज्ञान की देवी योगमाया मां सरस्वती देवी निवास करती हैं। श्रद्धालु इस त्रिकोण यंत्र की परिक्रमा कर मां लक्ष्मी,काली और सरस्वती देवी के दर्शन पूजन करते हैं।
इस नवरात्रि में मंदिर की सजावट अच्छी खासी चर्चा में है। विदेशी फूलों से मां विंध्यवासिनी धाम को दुल्हन की तरह सजाया गया है,जो देखते बन रहा है। इससे पहले इस का दृश्य कभी नहीं रहा है। श्रृद्धालु के लिए इस बार की व्यवस्था भी नया अनुभव है। अधिकारियों का धाम में डेरा जमाना ,इस सफलता का कारण माना जा रहा है।
चौदह वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले मेला क्षेत्र में इस अनूठा दृश्य है। भक्त प्रकृति हरितिमा के बीच विंध्य पर्वत और मां गंगा के सन्धि क्षेत्र में स्थित विंध्य क्षेत्र की अधिष्ठात्री देवी मां विंध्यवासिनी की अभ्यर्थना करने से पहले गंगा स्नान करते हैं। नवरात्रि में पूरा मेला क्षेत्र गुंजायमान है। यात्रियों की सुविधा एवं भीड़ नियंत्रित करने के उद्देश्य से मां के धाम के कपाट को चौबीसों घंटे खोल कर रखा गया है और दर्शनार्थी दिन रात लाईन में लगे हैं।
भारी भीड़ के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। चप्पे चप्पे पर पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के व्यक्तिगत रूचि एवं निर्देश से प्रशासन और सक्रिय हो गया है। वहीं मेला को 10 जोन और 21 सेक्टरों में बांटा गया है। पूरा मेला क्षेत्र सीसीटीवी कैमरे के निगरानी में हैं। ड्रोन कैमरे से भी निगरानी की जा रही है। गंगा नदी में घाटों की निगरानी और यातायात पर विशेष चौकसी बरती जा रही है। विंध्य महोत्सव की शुभारम्भ प्रख्यात लोक गायिका मालिनी अवस्थी के गायन से शुरू हुआ। महोत्सव पांच दिन चलेगा। देश के नामचीन कलाकारों द्वारा की जा रही प्रस्तुति ने श्रद्धालुओं का अच्छा मंनोरंजन हो रहा है। भीड़ भी इकट्ठा हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *