1 min read

रेलवे के अधिकारी की तानाशाही की वजह से सैकड़ों कर्मचारी मतदान करने से वंचित

रायपुर। वोट डालने के अधिकार को लेकर चुनाव आयोग लगातार लोगों को प्रेरित करते रहता है और शासन-प्रशासन भी इसमें निरंतर लोगों को जागरूक करता है कि सभी लोग अपने मतों का प्रयोग करें, और लोक तंत्र के मान को बढ़ाएं। लेकिन रेलवे के एक अधिकारी ने मतदान के अधिकार को दर किनार कर तकरीबन 700-800 कर्मचारियों को 17 नवम्बर को मतदान करने से वंचित कर दिया है। मुख्य संकेत एवं दूरसंचार अभियंता बिलासपुर जोन रेलवे में कार्य करने वाले 700 से 800 कर्मचारियों को मतदान करने से उन्हें वंचित कर दिया है। कर्मचारियों ने मुख्य संकेत एवं दूरसंचार अभियंता बिलासपुर जोन रेलवे पर आरोप लगाया है कि कार्यालय में आवश्यक कार्य होने की वजह से कर्मचारी वोट डालने नहीं जा सकते का आदेश दिया है। 17 नवम्बर को ही मतदान की तारीख तय है उसी दिन अधिकारी ने कर्मचारियों को कार्य में संलग्न कर दिया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्य संकेत एवं दूरसंचार अभियंता बिलासपुर जोन रेलवे ने एक आदेश जारी कर सभी 700 से 800 कर्मचारियों को 17 -18 नवम्बर को निरीक्षण कार्य रखा और कर्मचारी इस काम में लगे रहे और अपने मताधिकार से वंचित रहे। उन्होंने आदेश में कहा है कि वे 17 नवम्बर को निरीक्षण में आ रहे हैं और वो मतदान करने न जाएं, कर्मचारी कार्यस्थल पर उपस्थित रहें। इस वजह से कर्मचारी वोट डालने से वंचित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *